बुद्ध पूर्णिमा 2021| बुद्ध पूर्णिमा का महत्व

बुद्ध पूर्णिमा 2021 (Buddha purnima 2021)

दोस्तो हम सभी बचपन से ही स्कूल में भगवान बुद्ध के जीवन के बारे में पढ़ते आ रहे है और जिनको याद हो की बुद्ध पूर्णिमा क्यों मनाई जाती है और बुद्ध पूर्णिमा 2021 (buddha purnima 2021) का महत्व क्या है वह भगवान बुद्ध के जीवन के बारे में जरुर जनता होगा. लेकिन यदि आपको नही याद है और आप जानना चाहते है तो आज आपको इस लेख में बुद्ध पूर्णिमा क्या है और भगवान बुद्ध कौन थे इसकी पूरी जानकारी दी जाएगी.

बुद्ध पूर्णिमा 2021| बुद्ध पूर्णिमा का महत्व | बुद्ध पूर्णिमा क्यों मनाई जाती है

बुद्ध पूर्णिमा क्यों मनाई जाती है? (बुद्ध पूर्णिमा का महत्व)

बुद्ध पूर्णिमा का महत्व : बुद्ध पूर्णिमा गौतम बुद्ध की जयंती के रूप में मनाई जाती है बुद्ध पूर्णिमा को मनाने का कारण केवल भगवान बुद्ध का जन्म ही नहीं बल्कि इसी दिन गौतम बुद्ध को ज्ञान की भी प्राप्ति हुयी थी और इस दिन ही उनका महानिर्वाण भी हुआ था भगवान बुद्ध इस दिन को जन्म और म्रत्यु के चक्र से मुक्त हो गए थे और उनको सत्य की प्राप्ति हुयी थी.

बुद्ध पूर्णिमा वैसे तो बौद्ध यानी भगवान बुद्ध के अनुयायी जो की भगवान बुद्ध को मानते है और उनमे आस्था रखते है उनके द्वारा मनाया जाता है लेकिन वर्तमान समय में यह एक रास्ट्रीय पर्व/त्यौहार के रूप में मनाया जाता है तथा इस दिन पब्लिक holiday (छुट्टी) का भी प्रावधान है.

बुद्ध पूर्णिमा 2021 से जुड़ी जरुरी बातें

त्यौहार का नामबुद्ध पूर्णिमा
वैशाख पूजा
बुद्ध जयंती
किसके द्वारा मनाया जाता है?बुद्ध धर्म के अनुयायी (बौद्ध)
किस धर्म से सम्बंधित है?बौद्ध धर्म
कैसे मनाते है (विधि)?भगवान का ध्यान करना
बुद्ध धर्म के संदेशो का पालन करना
साकाहार का पालन करना
दान देना
तीर्थ स्थल की यात्रा करना
और स्नान करना
कब मनाया जाता है?वैशाख माह की पूर्णिमा को
2021 में बुद्ध पूर्णिमा कब है?26 मई (बुधवार)
बुद्ध पूर्णिमा क्यों मनाते है?भगवान बुद्ध के जन्म, ज्ञान की प्राप्ति और महानिर्वाण के उपलक्ष में

गौतम बुद्ध का जीवन

गौतम बुद्ध का बचपन का नाम सिद्धार्थ के नाम से जाना जाता है उन्होंने शाक्य के राजा सुद्धोधन के के घर एक राज परिवार में जन्म लिया था इनका जन्म लुम्बिनी नमक स्थान पर हुआ था जो की वर्तमान समय में नेपाल में स्थित है बचपन में ही माता महामाया देवी की मृत्यु हो जाने के कारन इनकी दूसरी माता ने इनका पालन पोषण किया.

सिद्धार्थ बचपन से ही बहुत दयालु प्रकृति के व्यक्ति थे सिद्धार्थ का मन राज काज में नही बल्कि लोगो की सेवा में लगता था तथा वह ऐसो आराम बिलकुल पसन्द नही करते थे.

सिद्धार्थ की प्रारंभिक शिक्षा उनके गुरु विश्वामित्र द्वरा हुयी जिनसे उन्हें वेदों और उपनिषदों का ज्ञान प्राप्त हुआ.

बुद्ध के बारे में और अधिक पढ़े: गौतम बुद्ध का जीवन परिचय

बुद्ध पूर्णिमा कैसे मनाया जाता है?

बागवान बुद्ध के अनुयायियों के लिए बुद्ध पूर्णिमा एक बहुत ही बड़ा त्यौहार माना जाता है चुकी बुद्ध को भगवान विष्णु का नौवा अवतार के रूप में मन जाता है अतः यह त्यौहार हिन्दू धर्म मानने वालो के लिए भी एक बड़ा त्यौहार है इसके साथ ही अलग अलग धर्मो और संस्कृतियों के लोग इस त्यौहार को अपने अपने अनूखे ढंग से मानते है.

जैसा की हम सभी जानते है की बिहार राज्य के बोधगया में भगवान बुद्ध को बुद्धत्वा (अर्थात ज्ञान की प्राप्ति) हुयी थी इसी कारण बोधगया बौद्ध धर्म के अनुयायियों के लिए एक बहुत ही बड़ा और प्रमुख तीर्थ स्थल मन जाता है और बुद्ध पूर्णिमा के दिन देश-विदेश से लोग भगवान बुद्ध की प्रतिमा के दर्शन के लिए बोधगया आते है.

बुद्ध पूर्णिमा के दिन बोद्धि वृक्ष की पूजा की जाती है और इसके चारो और घी के दिए जलाकर प्रकाशित किया जाता है. इस दिन बुद्ध का ध्यान किया जाता है उनके उपदेशो का पालन किया जाता है, साकाहार का पालन किया जाता है, और जरुरत मंदों को दान-दक्षिणा देकर मदत करने से लोगो के पाप कम होते है और पुण्य की प्राप्ति होती है.

कहा कहा मनाई जाती है बुद्ध पूर्णिमा

जैसा की आप जानते ही है की भगवान बुद्ध का जन्म नेपाल देश में स्थित लुम्बिनी में हुआ था जिस कारणयह पर्व नेपाल वासियों के लिए एक मुख्या पर्व तो है ही साथ में आप ये भी जानते है की बुद्ध को भगवान विष्णु का नौवा अवतार मन जाता है इस कारण यह हिन्दुयो और भारत देश का भी एक मुख्या पर्व मन जाता है.

बौद्ध धर्म के अनुयायी जिन्होंने भगवान बुद्ध से शिक्षा लेने के बाद अलग अलग देशो में बौद्ध धर्म का प्रचार करने लगे जिस कारण बौद्ध धर्म कई देशो में में फैला हुआ है और हर जगह के लोग अपनी अपनी संस्कृतियों के हिसाब से मानते है. जैसे की श्री लंका में यह पर्व वेशाक (वैशाख-भारत) के नाम से जाना जाता है.

बुद्ध पूर्णिमा निम्न देशो में धूमधाम से मनाई जाती है : भारत, नेपाल, श्रीलंका, चीन, जापान, थाईलैंड, मलेशिया, म्यांमार, इंडोनेशिया, विअतनाम आदि.

अंत में

दोस्तो उम्मीद है ऊपर दी गयी जानकारी बुद्ध पूर्णिमा क्यों मनाई जाती है? और बुद्ध पूर्णिमा का महत्व क्या है? आपको जरुर अच्छी लगी होगी. और आपको यह पर पूरी जानकारी मिली होगी. यदि आपको लगता है की कोई जानकरी यह पर अधूरी रह गयी है और उसको यह लिखना चाहिए था तो कृपया कमेंट बॉक्स में जरुर बताये.

साथ ही यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर जरुर से जरुर शेयर करे इससे हमें मोटिवेशन मिलता है और हम आपके लिए ऐसे ही महत्वपूर्ण जानकारिया लाते रहेंगे.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top