नींद ना आये तो क्या करें? उपाय

नींद ना आये तो क्या करें?- क्या आपको भी रात में नींद नही आती? आजकल की भागदौड़ वाली दुनिया में नींद ना आना (अनिद्रा) एक आम बात है लगभग हर दूसरा व्यक्ति इस प्रकार के समस्या से जूझ रहा है.

हम सब जानते है की इन्सान के जीवन में नींद की कितनी महत्ता है नींद हमारे मानसिक और शारीरिक क्षमता को पुनर्जागृत करती है और नींद से उठने के बाद हम तरोताजा महसूस करते है.

मनुष्य अपने जीवन में लगभग 33 साल नींद लेने में व्यतीत करता है जिसमे से लगभग 7 साल तो अच्छी नींद की कोशिश में ही बिता देता है. एक अच्छी नींद हमें नई ताजगी, शक्ति और उर्जावान बनती है.

लेकिन क्या किया जाए यदि रात भर हमें नींद ही ना आये और पूरी रात करवटे बदलने में ही बीत जाये, पुरे दिन मेहनत करने के बाद भी बिस्तर पर हमें नींद ना आये और दुनिया भर के खयालात हमारे मन में चलते रहें.

नींद ना आये तो क्या करें? उपाय | neend na aaye to kya kare
नींद ना आये तो क्या करें? उपाय | neend na aaye to kya kare

इस तरह की समस्या को अनिद्रा(Insomnia) के नाम से जाना जाता है इसमें जल्दी लेटने के बाद भी हमें रात भर नींद नही आती या जल्दी नींद टूट जाती है और फिर रात भर करवटे बदलते रहते है जो की हमारे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है यदि आप भी ऐसे ही समस्या से जूझ रहे है अच्छी नींद प्राप्त करने के उपाय.

दिनचर्या नियमित करें

दोस्तो बता दें की एक अच्छे जीवन और अच्छी नींद के लिए एक नियमित दिनचर्या आवश्यक होती है हमें अपने सोने, जागने, काम करने और पढने आदि के लिए एक नियमित रूपरेखा तैयार करनी चाहिए और उसका पालन करना चाहिए, समय से सोने की कोशिश करें यह माना जाता है की कोई भी काम यदि आदत बनानी है तो यूज़ लगभग 21 दिनों तक लगातार करना चाहिए जिससे वह आपकी आदत बन जाती है.

अच्छा भोजन लें

बता दें की एक अच्छा भोजन न सर हमारे शरीर बल्कि हमारे मन को भी स्वस्थ्य रखता है एक अच्छा और नियमित भोजन हमारे दिनचर्या को भी नियमित करता है यदि कब्ज एसिडिटी आदि की समस्या से जूझ रहे हो तो अपने भोजन को कम कर उसकी जगह फल और ताज़ी सब्जियों को अपने भोजन में शामिल करें साथ ही ड्राई फ्रूट्स और दूध का भी सेवन करें, चुकि एक स्वस्थ्य शरीर एक स्वस्थ मन का दर्पण होता है.

नींद से पहले मन को शांत रखें

सोने से पहले अपने सभी असंख्य विचारो को दरकिनार कर मन को शांत और केन्द्रित करें, चुकि जब मन में हलचल हो और तमाम तरह के दुनिया भर के विचार मन पे काबू किये हो तो मन को केन्द्रित करना थोडा मुश्किल हो सकता है, मन शांत रखने के लिए आप मैडिटेशन का सहारा ले सकते है इसके लिए आपको सबसे पहले एक लम्बी सांस लेते हुए थोडा रुक कर सांस बहार छोडे और यह प्रक्रिया 5 से 6 बार दोहराए, और अपनी आँखों को बंद रखकर अपने मन को कहीं दूर चंद सितारों के बीच ले जाएँ, जहा खुशनुमा और सामान्य मौसम हो और आप आराम फार्म सकें.

कुछ देर तक अपने मन को अपने शरीर और आसपास के माहौल से अलग कर वहीं रहें अब आप यह महसूस करेंगे की आपकी उलझाने अब सुलझने लगी है और आपना मस्तिष्क अब आराम करने की मुद्रा में आ गया है और आपको नींद आ रही है.

कोई किताब पढ़ें

यदि आपको लगता है की आपका मन अभी भी शांत नही हुआ और दुनिया भर के विचार अभी भी आपके मन को घेरे हुए हैं तो आप कोई किताब लेकर उसको पढना शुरू करें वह चाहे कोई कहानी की किताब ही या फिर किसी विषय की, पुरे मन से पढना शुरू करें और आपको कुछ देर बाद नींद आने लेगेगी.

टीवी, फ़ोन और लैपटॉप से दुरी रखें

बिस्तर पर जाने से 1 घंटे पहले से फोन, टीवी या लैपटॉप आदि से उचित दुरी बना लें, इलेक्ट्रॉनिक्स गैजेट्स का अधिक उपयोग हमारी अनिद्रा का कारण बन सकती है इससे निकलने वाली नीली रौशनी(Blue Rays) हमारे नींद और जागने के चक्र को प्रभावित करते है और रात को सोते समय नींद न आने का कारण बन सकता है.

नियमित व्यायाम और योग करें

नियमित रूप से व्यायाम करने से हमारा शरीर एक्टिव और फुर्तीला रहता है साथ ही व्यायाम से थकान महसूस होती है जिस कारन से हमें अच्छी नींद लेने में मदत मिलती है साथ ही यदि आपको नींद न आ रही हो तो आप बिस्तर पर ही कुछ योगासन कर सकते है जो आपको अच्छी नींद लाने में उपयोगी साबित होगा जैसे प्राणायाम आदि, इसमें आपको पहले एक नाक से लम्बी सांस लेनी होती है और कुछ देर रुक कर दूसरी नाक से सांस छोड़ना होता है फिर दूसरी नाक से सांस लेकर पहली नाक से छोड़े और यह प्रक्रिया दस बार दोहरायें.

(Disclaimer: इस लेख में बताई गयी जानकारी सामान्य मान्यताओ पर आधारित है तथा hindiindia.co.in इनकी पुष्टि नहीं करता, किसी तथ्य पर अमल करने से पहले सम्बंधित विशेषज्ञ से अवश्य कंसल्ट करें)

Avatar of Hindi India Contributors

हिन्दी इंडिया वेबसाइट पर हिन्दी में जानकारीके लिए निरंतर विजिट करते रहे यह पर आपको टेक, ब्लॉग्गिंग, शायरी, कोट्स, भारत के त्यौहार आदि के बारे में जानकारी प्रकाशित की जाती है.