SIP Meaning in Hindi: म्यूचुअल फंड में सिप क्या है?

दोस्तों यदि आप म्यूच्यूअल फण्ड या स्टॉक्स में निवेश करते है तो जाहिर है आपको सिप यानी SIP (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान – Systematic Investment Plan) के बारे में जरूर पता होगा.यदि आपको सिप का मतलब नहीं पता है तो भी आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है क्यों की यह पर आपको सिप के बारे में पूरी जानकारी मिलने वाली है हो सकता हो की आने सिप के बारे में कहीं से सुना हो या पढ़ा हो और आप सिप के बारे में जानने के इच्छुक हो तो हम आपको सिप का हिंदी में मतलब (sip meaning in hindi) समझाने वाले है.

निवेश करने के बहुत से तरीके होते है जैसे की आप चाहे तो बैंक में ही बचत खता खुलवाकर उसमे पैसे रख सकते है और इसपर बैंक आपको कुछ ब्याज भी देता है या फिर आप चाहे तो म्यूच्यूअल फण्ड, शेयर मार्केट , LIC या रियल स्टेट में भी अपने पैसे को निवेश कर सकते है और आने वाले समय में कुछ मुनाफा भी कमा सकते है

सिप(SIP) म्यूच्यूअल फण्ड में ही निवेश करने का आसान तरीका होता है जिसको की बहुत ही काम पैसो से शुरू किया जा सकता है जो भविष्य में हमें किसी भी अन्य निवेश के तरीको सबसे अधिक मुनाफा दे सकता है.

SIP meaning in hindi | सिप क्या है?

sip meaning in hindi | sip kya hai
SIP Meaning in Hindi: म्यूचुअल फंड में सिप क्या है? 1

दोस्तों सिप का पूरा नाम (Full Form) है – Systematic Investment Plan, जैसा की नाम से ही यह समझ में आता है )(sip meaning in hindi) की यह एक प्रकार का व्यवस्थित निवेश करने का तरीका है जिसमे हम अपने पैसे को म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund) में निवेश करते है.

अपने यह कहावत तो जरूर सुनी होगी की बून्द-बून्द से ही सागर भरता है ठीक उसी प्रकार सिप में भी थोड़े-थोड़े पैसे को एक समय अंतराल पर निवेश करके एक अच्छा रिटर्न पाया जा सकता है इसमें कुछ पैसे प्रति माह निवेश किये जाते है जो आने वाले समय में एक बहुत बड़ा अमाउंट बन जाता है.

हलाकि म्यूच्यूअल फण्ड और शेयर मार्किट में खास अंतर नहीं होता, आपके समझने के लिए यह बता दें की दोनों में ही हमारे पैसे किसी कंपनी के शेयर्स खरीदने में ही निवेश किये जाते है परन्तु शेयर मार्किट हमारे पैसे को कंपनी के शेयर में निवेश करने का प्रत्यक्ष तरीका होता है और म्यूच्यूअल फण्ड में हम अपने पैसे को अप्रत्यक्ष रूप से किसी कंपनी के शेयर में निवेश करते है, क्यों की म्यूच्यूअल फण्ड में हमारे पैसे को एक फण्ड मैनेजर द्वारा नियंत्रित किया जाता है जो की निवेश में महारत रखता है और हमारे निवेश को सुरक्षित रूप से नियंत्रित करता है.

कोई भी व्यक्ति वह चाहे नौकरी पेशा हो या कोई बिज़नेसमैन वह व्यवस्थित तरीके से अपने पैसे को हर महीने या क्वार्टरली सिप के जरिये अपने पैसे को कंपनी के शेयर्स में निवेश कर सकता है और भविष्य में मुनाफा बना सकता है हलाकि इसके रिस्क भी होता है परन्तु इसमें जो ब्याज मिलता है वह कम्पाउंडिंग होकर मिलता है जो लम्बे समय में हमारे निवेश को कई गुना तक बढ़ा भी सकता है परन्तु यदि हमने सही निवेश नहीं चुना हो तो इसमें नुकशान भी उठाना पद सकता है.

सिप को और अधिक विस्तृत जानकारी के लिए इस विडियो के माध्यम से समझ सकते है-

यह भी पढ़े –

आईपीओ क्या है? और इससे पैसा दोगुना कैसे करें?

म्यूच्यूअल फण्ड क्या है?

सिप के लाभ (Benefits of SIP in hindi)

दोस्तो आशा है की अब तक आपको सिप क्या है? सिप का मतलब (SIP meaning in hindi) समझ में आ गया होगा, अब हम आपको सिप के कुछ फायदे बताने वाले है जो आपको यह समझने में मदत करेंगे की सिप में निवेश आपके लिए अच्छा रहेगा या नही-

1) कम जोखिम – दोस्तो सिप में निवेश करने का जोखिम कम हो जाता है चुकी हम इसमें माहवार पैसे जमा करते है तो हमें मार्किट के उप या डाउन होने पर हमारा निवेश की अवेरेजिंग हो जाती है.

2) आसान क़िस्त – दोस्तो आप चाहे तो कितने भी कम से कम कीमत में सिप शुरू कर सकते है आप 100 रुपये से भी यहा पैसे निवेश कर सकते है और चाहे तो बड़े से बड़े अमाउंट को भी मंथली निवेश कर सकते है, कम निवेश के चलते इसमें किसी भी प्रकार का व्यक्ति इसमें आसानी से निवेश कर सकता है.

3) निवेश और विथद्रवल(withdrawl) में आसान – सिप में जिस प्रकार निवेश करना आसान है उसी तरह से इसमें से पैसे निकलना भी बहुत आसानी से हो जाता है आप चाहे तो मात्र 2 मिनट में ही अपने म्यूच्यूअल फण्ड अकाउंट से पैसे अपने बैंक अकाउंट में निकल सकते है इसके अलावा आप चाहे तो कुछ धनराशि निकाल सकते है.

4) चक्रवृद्धि ब्याज – दोस्तो आपने साधारण ब्याज और चक्रवृद्धि ब्याज के बारे में जरुर पढ़ रखा होगा, अगर नही भी पढ़ा तो आसन भाषा में आपको बता दें की चक्रवृद्धि ब्याज साधारण ब्याज से कई गुना जादा बड़ा होता है और सिप में भी हमारे निवेश पर साधारण ब्याज न लग के चक्रवृद्धि ब्याज लगाया जाता है जिससे लम्बे समय बाद हमारा निवेश कई गुना तक बढ़ जाता है.

सिप के नुकसान

दोस्तो आम तौर पर देखा जाए तो सिप से कोई नुकशान होने की संभावना कम ही रहती है मगर यदि आपका निवेश किसी गलत कंपनी या फण्ड में लगा दिया जाये तो यह आने वाले समय में आपके पैसे के निवेश को कई गुना तक कम भी कर सकता है जैसे की म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश के पहले यह वार्निंग दी जाती है की – Mutual Fund investments are subject to market risk यानी की सिप में किया गया निवेश मार्किट की स्थिति पर निर्भर करता है.

यदि मार्किट ऊपर जायेगा तो आपका पैसा भी बढेगा मगर यदि मार्किट निचे की और जाता है तो आपका निवेश घाट भी सकता है मगर ऐसी संभावना कम ही रहती है की मार्किट निचे की तरफ चलता रहे.

सिप में निवेश करने के तरीके क्या है?

दोस्तो टेक्नोलॉजी की इस दुनिया ने हरेक काम को इतना आसन बना दिया है की आप कोई भी काम घर बैठे बैठे अपने कंप्यूटर या smartphone से आसानी से कर सकते है जी हा आपने सही समझा, सिप में भी आप अपने smartphone से ही अपना म्यूच्यूअल फण्ड अकाउंट खुलवाकर अपना सिप शुरू कर सकते है.

इसके लिए आपको कई तरह के एप्लीकेशन गूगल प्ले स्टोर में मिल जायेंगे लेकिन आजकल सबसे प्रचलित अप्प ग्रो(Grow app) है जिसपे आप बहुत ही आसन तरीके से अपना अकाउंट खुलवाकर निवेश को आसन तरीके से शुरू कर सकते है.

Avatar of Priya Singh

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.