निबंध: मोबाइल फ़ोन के दुस्प्रभाव से बच्चो को कैसे बचायें? | baccho ko mobile se kaise dur rakhe

आजकल के इस आधुनिक समय में मोबाइल फ़ोन जिन्सगी का खास हिस्सा बन गया है जहा हम घर बैठे ही पुरे विश्व की जानकारी रखते हैअपने हर छोटे मोटे काम मोबाइल से ही घर बैठे कर लेते है झा एक ओर जिंदगी आसन तो हुयी है पर कहीं ना कही जिंदगी में काफी मुश्किलें भी बाधा रही है ज्यादातर बच्चे मोबाइल फ़ोन के आदि होते जा रहे हैउनकी ये लत दिन प्रतिदिन उनके लिए हानिकारक साबित होती जा रही हैजिसे लेकर उनके माता पिता भी परेशानी का सामना कर रहे हैमाता पिता चिन्तित है की कैसे वो अपने बच्चो की इस लत को छुड़ायें, आज हम आपको आसन और साधारण सी बाते बताने जा रहे है जिससे आप अपने बच्चो को मोबाइल की लत से छुटकारा दिला सकते है.

मोबाइल फ़ोन के दुस्प्रभाव से बच्चो को कैसे बचायें, baccho ko mobile se kaise dur rakhe
निबंध: मोबाइल फ़ोन के दुस्प्रभाव से बच्चो को कैसे बचायें? | baccho ko mobile se kaise dur rakhe 1

बचपन से ही मोबाइल से दुरी बनाना सीखें

बच्चों के माता पिता के लिए ये सबसे जरुरी है की बच्चे को छोटी उम्र से ही मोबिएल से दुरी बनाये रखें. ऐसा अक्सर देखा गया है की बच्चा रो रहा है तो फ़ोन दे दिया, खाना नही खा रहा है तो विडियो या गेम लगाकर बच्च को पकड़ा दिया, माता पिता शुरुआत में यही सबसे बड़ी गलती करते है इसीलिए शुरुआत से ही माता पिता यह कोशिश करें की बच्चे को लगातार फ़ोन नही देना चाहिए.

खुद भी बच्चे के सामने मोबाइल फ़ोन लेकर न बैठें

माता पिता का लगातार बच्चे के सामने म्प्बिले फ़ोन चलाना ठीक नही है यह एक प्रुख कारण है जब बच्चा थोडा समझदार हो जाता है 2 से 5 साल वो अक्सर देखता है की माता पिता उससे ज्यादा मोबाइल फ़ोन के साथ अपना अधिक समय व्यतीत कर रहे हैइससे उनमे हीन भावना भी आती हैवह भी मोबिएल के लिए जिद करता है इसीलिए बेहतर है की कम से कम बच्चो के सामने मोबाइल फ़ोन का इस्तेमाल करें.

इंडोर या आउटडोर गए खेलें

बच्चो को खेलना सबसे जादा पसंद होता है बेहतर होगा की बच्चो को उनका पसंदीदा गेम खेलने दें डी=कई तरह के इनडोर गेम होते है जैसे लुक्का छिपी, लूडो, कैरम आदि इसीतरह से आउटडोर गेम भी है जैसे फूटबाल, क्रिकेट, बैडमिंटन, साइकिलिंग, स्लाइडिंग इत्यादि. ऐसा करने से बच्चे मोबाइल फ़ोन से दूर भी रहेंगे और उनका स्वस्थ्य भी ठीक रहेगा.

बच्चो को पूरा समय दें

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी म सभी पैसे कमाने में लगे है जिससे की कोई अपने बच्चे को पूरा समय नही दे पाता. ऐसे बच्चे में चिडचिडापन होना लाजमी हैवह खुद को अकेला महसूस करते है और फ़ोन के आदि हो जाते हैइसीलिए माता पिता को कोशिश करनी चाहिए की वे बच्चो को पूरा समय दें.

किताबे पढने की आदत दालें

यह कोशिश करें की अपने आसपास कुछ अच्छी किताबे रखें तथा अपने बच्ची के सामने पढ़ें इससे उनमे भी किताबे पढने की भावना जागृत होती.

किस्से कहानिया सुनायें

पहले के समय में घर के बड़े बुजुर्ग बच्चो को अपने साथ बिठाकर अच्छी अच्छी किस्से कहानिया सुनाया करते थे उस ज़माने में मोबाइल फ़ोन नही हुआ करते थेआप भी कोशिश करी या गहर के बड़े बुजुर्ग के साथ बच्चे को रहने देंइससे उनकी बौधिक क्षमता बढ़ेगी.

म्यूजिक और डांस जैसी एक्टिविटी करायें

बच्चो की संगीत और नृत्य में रूचि बढायें, इसके लिए आपको भी इसमें रूचि बढ़नी होगी तभी बचे का मन लगेगा और वह इस सभी एक्टिविटी में व्यस्त रहेगा.

इन सबके अतिरिक्त भी कई प्रकार के अन्य तरीके भी है जिससे बच्चो को मोबाइल फ़ोन की लत से छुटकारा दिलाया जा सकता है-

  • कहीं घुमने जायें
  • साथ बैठकर खाना खायें
  • बच्चे के साथ गेम खेलें
  • साथ बैठकर कोई अच्छी मोवी देखें
  • बच्चो को सुने वह आपसे क्या कहना चाहते है

यह भी देखें-

Avatar of Priya Singh

Join Telegram
iQOO Z6 Lite 5G Snapdragon 4 Gen 1 के साथ लांच Redmi 11 Prime a Budget 5G phone in India NASA’s Artemis-1 Rocket Launch JIO Phone 5G Launch