Mutual Fund क्या है? और कैसे निवेश करें? What is Mutual Fund in Hindi?

दोस्तो म्यूच्यूअल फण्ड(Mutual Fund in Hindi) के बारे में आपने जरूर सुन रखा होगा मगर जानकारी के आभाव में की आखिर ये Mutual Fund होता क्या है? और कैसे काम करता है? अधिकतर लोग इसमें निवेश करने से डरते है साथ ही निवेश करने के सही तरीके और प्लेटफार्म (Platform) ना पता होने के कारण भी इसमें निवेश करने से बहुत से लोग हिचकिचाते है. आज हम आपको सरल भाषा में म्यूच्यूअल फण्ड की जानकारी देंगे और बतायेंगे की यह क्यों सही है और म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कैसे कर सकते है.

म्यूच्यूअल फण्ड क्या है? What is Mutual Fund in Hindi?

Mutual Fund in Hindi
Mutual Fund क्या है? और कैसे निवेश करें? What is Mutual Fund in Hindi? 1

Mutual Fund निवेश का वह तरीका है जिसके जरिये बिना शेयर मार्केट की जानकारी के भी तथा बहुत कम धनराशि के साथ निवेश शुरू किया जा सकता है म्यूच्यूअल फण्ड एक आसान और सुरक्षित तरीका होता है जिसमे हम खुद हमारे पैसो को निवेश नही करते है बल्कि एसेट मैनेजमेंट कंपनी(AMC) द्वारा किया जाता है.

जैसा की नाम से ही जाहिर है म्यूच्यूअल फण्ड बहुत से लोगो के छोटे छोटे निवेश को मिलकर बना एक फण्ड होता है जिसे Asset Management Company(AMC) द्वारा एक फण्ड मेनेजर(Fund Manager), जो की इन्वेस्टमेंट गुरु, अथवा निवेश में काफी अधिक अनुभव वाला व्यक्ति होता है, के द्वारा थोडा थोडा, अलग अलग जगहों पर निवेश किया जाता है.

म्यूच्यूअल फण्ड में हमारे पैसे को शेयर मार्केट अथवा स्टॉक मार्केट, बांड्स, सिक्योरिटीज अथवा कमोडिटीज आदि में निवेश किया जाता है म्यूच्यूअल फण्ड में निवेशक अपने निवेश किये हुए पैसो से जो भी शेयर प्राप्त होता है उसका मालिक और हिस्सेदार होता है निवेश में जो भी लाभ प्राप्त होता है उसमे निवेश के अनुपात में ही निवेशक को मुनाफा और नुकसान हो सकता है.

इक्विटी स्टॉक और म्यूच्यूअल फण्ड में क्या अन्तर है? Difference between equity stocks and mutual fund

यहा पर हम आपको बताने वाले है की इक्विटी स्टॉक अथवा शेयर तथा म्यूच्यूअल फण्ड में क्या अंतर है और कौन सा तरीका बेहतर है निवेश करने के लिए. एक तरह से देखा जाये तो दोनों में बहुत अधिक अन्तर नही है दोनों ही तरीको से कंपनियों के स्टॉक अथवा शेयर्स में निवेश किया जाता है तो चलिए जानते है की स्टॉक और म्यूच्यूअल फण्ड कैसे अलग है.

  • दरअसल स्टॉक शेयर बाज़ार में निवेश करने का डायरेक्ट तरीका है जिसमे एक अकेला निवेशक अथवा एंजेल इन्वेस्टर अपने Demat Account के जरिये शेयर मार्केट में मौजूद किसी भी स्टॉक में आसानी से निवेश अथवा ट्रेड कर सकता है.
  • म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund) में भी निवेशक अपने पैसे को स्टॉक्स आदि में निवेश करता है पर इसमें निवेशक डायरेक्ट निवेश ना करके एक फण्ड मेनेजर के जरिये किया जाता है फण्ड मेनेजर एक सफल निवेशक और वित्त के मामले में एक बहुत ही अनुभवी व्यक्ति होता है जो हमारे पैसे को कहा निवेश करना है तय करता है.
  • शेयर मार्केट अथवा स्टॉक में निवेश करना काफी रिस्की होता है क्यों की किसी भी शेयर मे निवेश करने के लिए उसके बारे में अच्छी तरह से research करना आवश्यक होता है अन्यथा आपके पैसे डूब भी सकते है वही म्यूच्यूअल फंड में यह काम भी आसन हो जाता है क्यों की फण्ड मेनेजर यह तय करता है की हमारे पैसो को किन स्टॉक में निवेश करना है.
  • म्यूच्यूअल फण्ड उन निवेशको के लिए एक उचित विकल्प है जिन्हें शेयर मार्केट की जानकारी नही है अथवा वह बहुत अधिक रिसर्च आदि नही कर सकते है या इसके लिए उनके पास समय की कमी है.
  • हलाकि म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करना डायरेक्ट स्टॉक मार्केट में निवेश करने से अधिक खर्चीला होता है जिसमे एसेट मैनेजमेंट कंपनी द्वारा कुछ charges भी रख लिए जाते है और निवेश किये हुए पैसो से जो मुनाफा होता है उसे निवेशको को इन्वेस्टमेंट के अनुपात में बांट दिया जाता है.
  • म्यूच्यूअल फण्ड के जारिये निवेशको के पैसो को अलग अलग सेक्टर्स के स्टॉक्स में फण्ड मेनेजर द्वारा निवेश किया जाता है जिससे इसमें नुकसान होने के चांस भी कम रहता है.

यह भी देखें-


Avatar of editorial team Hindi India

हिन्दी इंडिया वेबसाइट पर हिन्दी में जानकारी के लिए निरंतर विजिट करते रहे यह पर आपको टेक, ब्लॉग्गिंग, शायरी, कोट्स, भारत के त्यौहार आदि के बारे में जानकारी प्रकाशित की जाती है.

Join Telegram
iQOO Z6 Lite 5G Snapdragon 4 Gen 1 के साथ लांच Redmi 11 Prime a Budget 5G phone in India NASA’s Artemis-1 Rocket Launch JIO Phone 5G Launch