अप्रैल 2 2022 को चैत्र नवरात्र शुरू हो रहे है

आज से नया हिंदू विक्रम संवत 2079 भी शुरू हो गया है।

चैत्र माह की शुक्ल प्रतिपदा तिथि पर कलश स्थापना करके देवी दुर्गा की आराधना 9 दिनों तक की जाएगी.

दुर्गा चालीसा का पाठ अवश्य ही करना चाहिए। नही तो कम से कम ‘ओम ऐं ह्रीं क्लीं चामुंडायै विच्चे’ का जाप करें।

मां को प्रसन्न करने के लिए 9 मिट्टी के दीपक में अखंड ज्योति जलाएं,तो विशेष फल मिलता है। 

पूजा में लाल फूल, लाल चुन्नी और आसन के तौर पर लाल रंग के कपड़े का इस्तेमाल करें।

नवरात्रि के पहले दिन शुभ मुहूर्त में कलश स्थापना के साथ  देवी शैलपुत्री की आराधना की जाती है।

Navratri 2022: नवरात्री पर क्या करें और क्या न करें, भारत में त्योहारों की सूचि के लिए निचे लिंक पर क्लिक करें